शिक्षा का महत्तव !

शिक्षा का महत्तव !

हेलो दोस्तों , आप सभी जानते है कि हमारे जीवन में शिक्षा का बहुत महत्व है।  लेकिन आज कल शिक्षा को लेकर कुछ लोगों को को गलत्फमिया हो गयी।  इस लेख के माध्यम से आपको स्किशा का मह्हताव पता चलेगा और शिक्षा का सही मतलब भी पता चलेगा। 

मझे उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से आप सभी को शिक्षा के महत्व पता चेलगा। 

तो फिर शुरू करते है – बिना किसी देरी के !

घर शिक्षा प्राप्त करने का पहला स्थान होता है। और सभी के जीवन में अभिभावक पहले शिक्षक ही होते हैं। शिक्षा हम सभी के उज्जवल भविष्य के लिए आवश्यक उपकरण है। हम जीवन में शिक्षा के इस उपकरण का प्रयोग करके कुछ भी प्राप्त कर सकते हैं। शिक्षा का स्तर लोगों को सामाजिक और पारिवारिक आदर और एक अलग पहचान बनाने में मदद करता है। 

यह एक व्यक्ति के जीवन एक अलग स्तर और अच्छाई की भावना को विकसित करती है। 

Shiksha Ka Mehttav

शिक्षा क्या है ?

शिक्षा लोगों की सोच को  सकारात्मक विचार लाकर बदलती है। और नकारात्मक विहारों को हराती है। बचपन में ही हमरे माता – पिता हमरे मस्तिष्क को शिक्षा की और ले जाने में बहुत महतवपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 

शिक्षा हमें तकनीकी और उच्च कौशल वाले ज्ञान के साथ ही पुरे संसार में हमारे विकसित करने की क्षमता प्रदान करती है। 

शिक्षा हमें अधिक सभ्य और बेहतर  शिक्षित बनाती है। 

यह समाज में बेहतर पद और नौकरी में कल्पना किये गए पदों को प्राप्त करने में हमारी मदद करती है।

शिक्षा की भूमिका !

आधुनिक तकनीकी संसार में शिक्षा मुख्य भुमिका निभाती है। आजकल शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए बहुत तरीके अपनाये गए हैं। 

शिक्षा का पूरा तंत्र अब पूरी तरह से बसल दिया गया है। 

अब हम 12 वीं कक्षा के बाद डिस्टेंट एजुकेशन  की पढ़ाई  के माध्यम  से नौकरी के साथ भी पढ़ाई कर सकते हैं। शिक्षा बहुत महंगी नहीं है। डिस्टेंट एजुकेशन के माध्यम से हम किसी प्रसिद्ध और बड़े विश्व-विधालय में बहुत कम शुल्क में प्रवेश ले सकते हैं। 

अपने कौशल और ज्ञान को बढ़ाने का सबसे अच्छा  तरीका अख़बार को पढ़ना , टी.वी. पर ज्ञान वर्धक कार्यकर्मो को देखना , अच्छे लेखकों की किताबे पढ़ना आदि है। 

शिक्षा – उज्जवल भविष्य के लिए आवशयक उपकरण !

शिक्षा हम सभी के जीवन के लिए आवश्यक उपकरण है। हम जीवन में शिक्षा के इस उपकरण का प्रयोग करके कुछ अच्छा प्राप्त कर सकते हैं। 

शिक्षा का उच्च स्तर लोगों को सामाजिक और पारिवारिक आदर और एक अलग पेहचान बनाने में मदद करता है। 

शिक्षा किसी भी बड़ी पारिवारिक , सामाजिक और यहां तक कि राष्ट्रीय  और अंतर्राष्ट्रीय समस्याओं का भी हल करने की क्षमता प्रदान करती है।  

विद्या – सर्वश्रेष्ठ धन !

विद्या एक ऐसा धन है जिसे न तो कोई चुरा सकता है और न ही कोई इसे छीन सकता है।  

विद्या ही एकमात्र ऐसा  धन है जो बाटने पर कम नहीं होता , बल्कि इसके विपरीत बढ़ता ही जाता है। 

शिक्षा हमारे लिए बहुत जरूरी है , इसकी वजह से हमें हमारे समाज में सम्मान मिलता है , जिससे हम समाज में सर उठा कर जी सकते है। 

अंतिम शब्द !

शिक्षा लोगों के मस्तिष्क को उच्च स्तर पर विकसित करने का कार्य करती है और समाज में लोगों के सभी भेदभाव को मिटने का काम भी करती है। 

शिक्षा हमारी अच्छा अध्यन्न कर्ता बनने में भी मदद करती है। 

जीवन के हर पहलू को समझने के लिए , सूझ – बूझ को विकसित करती है। 

 शिक्षा मानव अधिकारों , सामाजिक अधिकारों , देश के प्रति कर्तव्यों और दयितव्यों को समझने में हमारी सहायता करती है।  

आज आपने क्या सीखा !

मुझे उम्मीद है कि  आपको मेरा यह लेख “  शिक्षा का महत्तव !” जरूर पसंद आया होगा । मेरी हमेशा से ही यह कोशिश रहती है कि  पढ़ने वालों को “ शिक्षा का महत्तव !” के विषय में पूरी जानकारी प्राप्त हो । 

यदि आपको इस लेख  से सम्बन्धित कोई  शंका  है या आपको लगता है कि  इस लेख में कुछ सुधार होना चाहिए  तो Comment के जरिये हमें बता सकते है ।

अगर आपको यह लेख ”  शिक्षा का महत्तव !” पसंद आया या इससे कुछ सीखने को मिला है  तो इस लेख को सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे फेसबुक, ट्विटर, इत्यादि पर शेयर कर सकते है 

धन्यवाद्

My Hindi World (MHW).

सब कुछ हिंदी में ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *